Primolut-N Tablet Uses in Hindi – फायदे, उपयोग, कीमत, खुराक, साइड इफेक्ट्स

यहाँ प्राइमोलट-एन टैबलेट (Primolut-N Tablet) के बारे में हिंदी में जानकारी दी जाएगी। यह टैबलेट मौखिक रूप से ली जाती है और डॉक्टर की सलाह पर दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है। इसका प्रभाव आमतौर पर 2-3 महीने में दिखाई देने लगता है।

प्राइमोलट-एन टैबलेट (Primolut-N Tablet) एक हार्मोनल दवा है जो महिलाओं के लिए उपलब्ध है। इसमें सक्रिय संघटक नोरेथिस्टेरोन होता है, जो हार्मोन प्रोजेस्टेरोन का सिंथेटिक रूप है। यह दवा मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने, एंडोमेट्रियोसिस के इलाज और मासिक धर्म को रोकने या देरी करने के लिए किया जाता है।

प्राइमोलट-एन टैबलेट का उपयोग (Primolut-N Tablet use in Hindi)

प्रिमोलुट-एन (Primolut-N Tablet) का उपयोग आमतौर पर निम्न स्थितियों में किया जाता है:

  • अनियमित मासिक धर्म चक्र
  • अत्यधिक या अनियमित रक्तस्राव
  • एंडोमेट्रायोसिस (पीड़ा युक्त मासिक धर्म)
  • प्रीमेन्सट्रुअल सिंड्रोम

यह टैबलेट मौखिक रूप से ली जाती है और डॉक्टर की सलाह पर दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है। इसका प्रभाव आमतौर पर 2-3 महीने में दिखाई देने लगता है।

प्राइमोलट-एन टैबलेट के साइड इफेक्ट्स (Side effects of Primolut-N Tablet in Hindi)

इस दवा को डॉक्टर के परामर्श के बिना नहीं लेना चाहिए। इस दवा के उपयोग से दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जैसे कि चक्कर आना, उल्टी, दस्त, चिंता, बदहजमी, त्वचा की खुजली या लालिमा, बालों का झड़ना, बदलते मूड या नींद न आना। इसलिए, इस दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना जरूरी है।

इस दवा को नियमित रूप से लेना चाहिए। इस दवा की खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जाता है। इस दवा को डॉक्टर के परामर्श के बिना नहीं लेना चाहिए।

इस दवा की कीमत विभिन्न ऑनलाइन और ऑफलाइन दुकानों पर अलग-अलग हो सकती है। इसलिए, इस दवा के बारे में डॉक्टर से पूछना जरूरी है।

प्राइमोलट-एन टैबलेट के सुरक्षा संबंधी सलाह (Safety Advise)

अल्कोहल
(सावधान)
इस दवा के उपयोग करने के साथ शराब का सेवन करने पर सावधानी बर्तने की सलाह दी जाती है।
गर्भावस्था
(असुरक्षित)
गर्भावस्था के दौरान इस दवा का उपयोग करना असुरक्षित है। गर्भवति महिलाओं पर किए गए अध्ययनों से पता चला है कि यह विकसित हो रहे बच्चे पर हानिकारक प्रभाव डालती है। कृपया डॉक्टर की सलाह लें।
स्तनपान
(असुरक्षित)
स्तनपान कराने वाली महिला को इस दवा का उपयोग करना असुरक्षित है। अध्ययनों से पता चला है कि यह मां के दूध में मिलकर बच्चे को हानि पहुँचा सकती है।
ड्राइविंग
(असुरक्षित)
आइसोट्रोइन 30 कैप्सूल के इस्तेमाल से ऐसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जिससे गाड़ी चलाने की क्षमता प्रभावित हो सकती है। इलाज के दौरान दृष्टि खराब होना, सुस्ती और चक्कर आने की शिकायत देखी गयी है।
किडनी
(सुरक्षित)
किडनी की बीमारी से पीड़ित मरीजों को इस दवा का उपयोग संभवतः सुरक्षित है। इस तरह के मरीजों को इस दवा की खुराक कम या ज्यादा करने की जरूरत नहीं पड़ती है। यदि इसके उपयोग से कुछ अन्य लक्षण दिखाई देते हैं तो इस दवा का उपयोग तुरंत बंद कर दें। और अपने डॉक्टर की इसकी जानकारी दें।
लिवर
(असुरक्षित)
लिवर की बीमारी से पीड़ित मरोजों को इस दवा का उपयोग करना असुरक्षित है। ऐसे मरीजों को इस दवा का उपयोग करने से बचन चाहिए।

Leave a comment